Hindi Resources

Many ministries, churches, schools and individuals around the world translate Third Millennium Ministries' materials into their own languages. Sometimes they provide us with copies of those translations so that we can share them with others.

प्रेरितों का विश्वास-कथन  (The Apostles' Creed)

हम परमेश्‍वर में विश्वास करते हैं  (We Believe in God)

  • अध्याय एक: हम परमेश्‍वर के बारे में क्या जानते हैं  (Lesson 1: What We Know About God)
    Word
  • अध्याय दो: परमेश्‍वर कैसे भिन्न है  (Lesson 2: How God Is Different)
    Word
  • अध्याय तीन: कैसे परमेश्‍वर हमारे जैसा है  (Lesson 3: How God Is Like Us)
    Word
  • अध्याय चार: परमेश्‍वर की योजना और कार्य   (Lesson 4: God's Plan and Works)
    Word

हम यीशु में विश्वास करते हैं  (We Believe in Jesus)

मनुष्य क्या है?  (What is Man?)

  • अध्याय एक: आरम्भ में  (Lesson 1: In the Beginning)
    Word
  • अध्याय दो: परमेश्वर का स्वरूप  (Lesson 2: The Image of God)
    Word
  • अध्याय तीन: पाप का श्राप  (Lesson 3: The Curse of Sin)
    Word
  • अध्याय चार: अनुग्रह की वाचा  (Lesson 4: The Covenant of Grace)
    Word

आपके धर्मविज्ञान का निर्माण  (Building Your Theology)

विधिवत् धर्मविज्ञान का निर्माण करना  (Building Systematic Theology)

  • अध्याय एक: विधिवत् धर्मविज्ञान क्या हैॽ  (Lesson 1: What is Systematic Theology?)
    Word   PDF
  • अध्याय दो: विधिवत् प्रक्रियाओं में तकनीकी शब्दावलियाँ  (Lesson 2: Technical Terms in Systematics)
    Word   PDF
  • अध्याय तीन: विधिवत् प्रक्रियाओं में तर्क-वाक्य  (Lesson 3: Propositions in Systematics)
    Word PDF
  • अध्याय चार: विधिवत् प्रक्रियाओं में धर्मसिद्धान्त  (Lesson 4: Doctrines in Systematics)
    Word

बाइबल आधारित धर्मविज्ञान का निर्माण करना  (Building Biblical Theology)

  • अध्याय एक: बाइबल आधारित धर्मविज्ञान क्या है?  (Lesson 1: What is Biblical Theology?)
    Word
  • अध्याय दो: पुराने नियम का वर्णनात्मक संश्लेषण  (Lesson 2: Synchronic Synthesis of the Old Testament)
    Word
  • अध्याय तीन: पुराने नियम में ऐतिहासिक घटनाक्रम  (Lesson 3: Diachronic Developments in the Old Testament)
    Word
  • अध्याय चार: नए नियम के बाइबल आधारित धर्मविज्ञान की रूपरेखाएँ  (Lesson 4: Contours of New Testament Biblical Theology)
    Word PDF

राज्य, वाचाएँ और पुराने नियम का कैनन  (Kingdom, Covenants & Canon of the Old Testament)

नए नियम में राज्य और वाचा  (Kingdom and Covenant in the New Testament)

पंचग्रन्थ>  (The Pentateuch)

  • अध्याय एक: पंचग्रन्थ का परिचय (Lesson 1: Introduction to the Pentateuch)
    Word
  • अध्याय दो: एक सिद्ध संसार  (Lesson 2: A Perfect World)
    Word
  • अध्याय तीन: स्वर्गलोक खो गया और पाया गया  (Lesson 3: Paradise Lost and Found)
    Word
  • अध्याय चार: हिंसा से भरा हुआ संसार  (Lesson 4: A World of Violence)
    Word
  • अध्याय पाँच: सही दिशा  (Lesson 5: The Right Direction)
    Word
  • अध्याय छेः अब्राहम का जीवन: संरचना और विषय-वस्तु  (Lesson 6: The Life of Abraham: Structure and Content)
    Word   अध्ययन मार्गदर्शिका (Word)
  • अध्याय सात: अब्राहम का जीवन: मूल अर्थ  (Lesson 7: The Life of Abraham: Original Meaning)
    Word   अध्ययन मार्गदर्शिका (Word)
  • अध्याय आठ: अब्राहम का जीवन: आधुनिक उपयोग  (Lesson 8: The Life of Abraham: Modern Application)
    Word   अध्ययन मार्गदर्शिका (Word)
  • अध्याय नौ: कुलपति याकूब (Lesson 9: The Patriarch Jacob)
    Word
  • अध्याय दस: यूसुफ और इसके भाई (Lesson 10: Joseph and His Brothers)
    Word
  • अध्याय ग्यारह: निर्गमन का सिंहावलोकन (Lesson 11: An Overview of Exodus)
    Word

आदिकालीन इतिहास  (The Primeval History)

पिता अब्राहम  (Father Abraham)

उसने हमें भविष्यवक्ता दिए  (He Gave Us Prophets)

सुसमाचार  (The Gospels)

प्रेरितों के काम की पुस्तक  (The Book of Acts)

पौलुस के धर्मविज्ञान का केन्द्र  (The Heart of Paul's Theology)

पौलुस की कारागृह से लिखी पत्रियाँ  (Paul's Prison Epistles)

इब्रानियों की पुस्तक  (The Book of Hebrews)

याकूब की पत्री  (The Epistle of James)

  • अध्याय एक፡ याकूब की पत्री का परिचय  (Lesson 1: Introduction to James)
    Word
  • अध्याय दो፡ ज्ञान के दो मार्ग  (Lesson 2: Two Paths of Wisdom)
    Word

प्रकाशितवाक्य की पुस्तक  (The Book of Revelation)

उसने हमें पवित्रशास्त्र दिया: व्याख्या की नींव  (He Gave Us Scripture: Foundations of Interpretation)

बाइबल पर आधारित निर्णय लेना  (Making Biblical Decisions)